अर्जुन रणतुंगा ने छोड़ी यूनाइटेड नेशनल पार्टी: श्रीलंका के पूर्व मंत्री और दिग्गज क्रिकेटर अर्जुन रणतुंगा ने विपक्षी यूनाइटेड नेशनल पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। वह पार्टी के कामकाज से संतुष्ट नहीं थे। यूएनपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि पार्टी ने चुनावों में अपनी हार के बाद कोई बदलाव या सुधार नहीं किया। अगस्त 2020 में हुए संसदीय चुनाव में यूएनपी को एक भी सीट नहीं मिली।

रणतुंगा 2015 से 2019 तक यूएनपी सरकार में मंत्री रहे। 2000 में क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद उन्होंने 2001 में राजनीति में कदम रखा। उनके छोटे भाई प्रसन्ना मौजूदा सरकार में पर्यटन मंत्री हैं। अर्जुन रणतुंगा पारिवारिक परंपरा के खिलाफ जाकर यूएनपी में शामिल हुए। उनके पिता रेगी रणतुंगा श्रीलंका फ्रीडम पार्टी (एसएलएफपी) में मंत्री थे।

यूएनपी साल 1946 में अस्तित्व में आई। अगस्त 2020 में हुए संसदीय चुनाव में उन्हें सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा। वह एक भी सीट नहीं जीत सकीं। अर्जुन रणतुंगा 2015 से 2019 तक मंत्री रहे। रणतुंगा ने श्रीलंका के लिए 93 टेस्ट और 269 वनडे खेले हैं। उनकी कप्तानी में श्रीलंका ने 1996 का विश्व कप जीता था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लाहौर में खेले गए फाइनल में उनके बल्ले से विजयी रन आए।

यह भी पढ़ें- टीम इंडिया को 24 घंटे के अंदर दूसरा झटका, न्यूजीलैंड के बाद पाकिस्तान ने किया ‘नुकसान’

ओमिक्रॉन के खौफ के बीच टीम इंडिया का करेगी दौरा? दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने दिया ये जवाब

Write A Comment