भारत बनाम न्यूजीलैंड, दूसरा टेस्ट मैच: भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जा रहा है. इस मैच में दोनों टीमों में बड़े बदलाव देखने को मिले। अजिंक्य रहाणे, इशांत शर्मा और रवींद्र जडेजा चोट के कारण बाहर हो गए, जबकि न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन इस मैच में नहीं खेल रहे हैं। उनकी जगह टॉम लैथम को कमान सौंपी गई है. क्रिकेट इतिहास के इस मैच में बना ऐसा संयोग, जो आज से 132 साल पहले बना था. आइए जानते हैं इसके बारे में।

132 साल बाद दो मैचों में बने चार कप्तान

भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहले मैच में भारतीय टीम की अगुवाई अजिंक्य रहाणे ने की थी, जबकि न्यूजीलैंड की कप्तानी केन विलियमसन के हाथों में थी. दूसरे मैच में नियमित कप्तान विराट कोहली की वापसी हुई, लेकिन न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन इस मैच में नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में टॉम लैथम को कप्तानी दी गई है. इस तरह दो मैचों की टेस्ट सीरीज में कुल 4 खिलाड़ी कप्तान बन गए हैं। यह संयोग 132 साल बाद आया है।

ऐसा पहली बार 1889 में हुआ था।

ऐसा क्रिकेट के इतिहास में पहली बार साल 1889 में हुआ था। उस समय इंग्लैंड दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गया था। उस समय 2 मैचों में चार खिलाड़ियों ने कप्तानी संभाली थी। दक्षिण अफ्रीका के ओवेन डननेल और विलियम मिल्टन कप्तान बने। इंग्लैंड की कप्तानी ऑब्रे स्मिथ और मोंटी वोडेनहुई ने संभाली। क्रिकेट में ऐसा पहली बार हुआ है।

यह भी पढ़ें: IND vs NZ 2nd Test Live: गिरा भारत का चौथा विकेट, 18 रन पर आउट हुए श्रेयस अय्यर, 150 के पार गया स्कोर

IPL 2022: IPL के अगले सीजन में इस खिलाड़ी को मिल सकती है RCB की कमान, जानिए क्या है वजह

Write A Comment