पाकिस्तान बनाम बांग्लादेश: बांग्लादेश टी20 विश्व कप सेमीफाइनलिस्ट पाकिस्तान की मेजबानी करने के लिए तैयार है। दोनों टीमों के बीच टी20 सीरीज की शुरुआत 19 नवंबर से होगी। पाकिस्तान की टीम बांग्लादेश पहुंच चुकी है और उसका ट्रेनिंग कैंप भी शुरू हो गया है। पाकिस्तान के मुख्य कोच सकलैन मुश्ताक मंगलवार को ट्रेनिंग सेशन में देश का झंडा लेकर पहुंचे.

फैन्स ने इसे शर्मनाक करार दिया

मुश्ताक टी20 वर्ल्ड कप में भी झंडे के साथ ट्रेनिंग सेशन में रहते थे। इसका कारण खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाना है। इसकी तस्वीर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के ट्विटर हैंडल से भी शेयर की गई है। हालांकि बांग्लादेश के फैंस को सकलैन मुश्ताक का ये कदम पसंद नहीं आ रहा है. उन्होंने नाराजगी जताई है। एक फैन ने इसे शर्मनाक करार दिया है।

बांग्लादेश के एक क्रिकेट फैन ने लिखा कि अलग-अलग देश यहां क्रिकेट खेलने आते रहते हैं। टीमें यहां अभ्यास भी करती हैं। लेकिन अभी तक किसी भी टीम ने मैदान पर झंडा फहराकर अभ्यास नहीं किया है। पाकिस्तान ने ऐसा क्यों किया? यह क्या दिखाता है? एक फैन ने लिखा कि पाकिस्तान वापस चले जाओ। बांग्लादेश को सीरीज रोक देनी चाहिए। बांग्लादेश में किसी भी तरह के पाकिस्तानी झंडे को बैन करें।

पाकिस्तान के राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने सोमवार को बांग्लादेश के खिलाफ दो टेस्ट मैचों के लिए टीम की घोषणा की। पहला मैच चटगांव (26-30 नवंबर) और दूसरा ढाका (4-8 दिसंबर) में खेला जाएगा। पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज इमाम उल हक, ऑफ स्पिनर बिलाल आसिफ और लेग स्पिनर यासिर शाह की टीम में वापसी हुई है। इमाम ने आखिरी बार दिसंबर 2019 में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था। उन्हें कायद-ए-आजम ट्रॉफी में उनके प्रभावशाली प्रदर्शन के आधार पर टीम में वापस लाया गया है। उन्होंने चार मैचों की पांच पारियों में 488 रन बनाए।

यह भी पढ़ें- टी20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हारी पाकिस्तान की टीम, ICC ने दिया अब जश्न मनाने का मौका!

ICC टूर्नामेंट शेड्यूल: ICC ने 2031 तक टूर्नामेंट का शेड्यूल जारी किया, देखें कब और कहां होंगे ये बड़े इवेंट

Write A Comment